Ritesh agrawal कौन हैं - जाने उनकी सफलता की कहानी Best जानकारी 2022

Ritesh agrawal कौन हैं – जाने उनकी सफलता की कहानी

RItesh agrawal कौन हैं

Ritesh Agrawal कौन हैं

दोस्तो जीवन मे सफलता पाने के लिए सभी मेहनत करते हैं लेकिन सभी लोग सफल नही हो पाते। किसी भी क्षेत्र में वही लोग सफल हो पाते हैं जो पूरी लगन, कठोर मेहनत, और ईमानदारी से किसी काम को करते हैं अगर बिज़नेस की बात करें तो इसमे भी सिर्फ कुछ लोग ही सफल होते हैं जो आप काम सच्ची लगन और मेहनत से करते हैं।

अगर आप कोई बिज़नेस शुरू करने जा रहे ैं तो आपके बस उस क्षेत्र का पूरा नॉलेज होना चाहिए, मार्कर्टिंग को पूरा नॉलेज होना चाहिए तभी आप किसी बिज़नेस में सफल हो पाते हैं। हैम अगर कोई बुसिनेस शुरू करने जाते हैं तो उसमें बहुत सारी चीजो का नॉलेज रखना होता है जिसके हासिल करने में बहुत समय लग जाता है

लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो बहुत कम उम्र में ही इसे हासिल कर लेते है ऐसे ही एक सफल व्यक्ति की बात आज हम करने जा रहे है जो बहुत कम उम्र में ही एक बहुत सफल आदमी बन चुके हैं और जो लोग सोचते हैं कि अभी हम बिज़नेस शुरु नही कर पाएंगे अभी हमारी उम्र छोटी है उनके लिए ये एक मिसाल है

हम बात करने जा रहे हैं रितेश अग्रवाल की जिन्होंने महज 21 साल की उम्र में ही बिज़नेस में बहुत सफलता हासिल की है जिनसे हम सीख लेना चाहिए Oyo hotels

परिचय

रितेश अग्रवाल का जन्म बिसाम में हुआ था जो ओडिशा के कटक डिस्ट्रिक्ट में है इनका जन्म 16 नबम्बर 1993 को हुआ था । रितेश अग्रवाल तीन भाई बहन हैं सभी आपने माता पिता के साथ ही रहते थे। इनके पिता भी एक अच्छे बिजनेसमैन हैं जो Infrastructure कारपोरेशन में काम करते है और इनकी माता हाउस वाइफ हैं

रितेश अग्रवाल के प्रारंभिक शिक्षा की शुरुआत sacred heart स्कूल से हुई ही ओडिशा के रायगड़ा में स्थित है। रितेश अग्रवाल ने आगे की पढ़ाई दिल्ली में किया यहाँ के Indian school of Business and finance में दाखिला लेकर इन्होंने बिजनेस का कोर्स शुरू किया लेकिन इन्होंने पूरा कोर्स नही किया और बीच मे ही छोड़कर बिजनेस शुरू कर दिया।

रितेश अग्रवाल पर एक नजर

नामरितेश अग्रवाल
Date of birth16 Nov 1993
आयु27
पिता का नामN/A
माता का नामN/A
पत्नी का नामN/A
NATIONALITYINDIAN
Hair colourBlack
Weight70 kg
Height5.9″
जन्म स्थानरायगड़ा, उड़ीसा
होमटाउनबीसम, रायगड़ा, ओडिशा

रितेश अग्रवाल जब छोटे थे तभी से वे बड़े बड़े बिजनेसमैन से प्रेरित थे जैसे – बिल गेट्स, मार्क जुकरबर्ग, स्टीव जॉब्स इत्यादि।

OYO की शुरुआत कैसे हुई

रितेश अग्रवाल को शुरू से ही घूमने का बहुत शौक था उन्हें जब भी मौका मिलता था वो नई नई जगहों पर घूमते थे। जब वे घूमने जाते थे तो वे होटलों में ठहरते थे इसके दौरान उन्हें होटलों की सुविधा से बहुत परेशानी होती थी। कही पर उन्हें ज्यादा चार्ज देना पड़ता था और सुविधा भी अच्छी नही मिलती थी और कहीं कहीं कम पैसे में ही अच्छी सुविधा मिल जाती थी मतलब होटलों में मनमानी थी जितना मन किया चार्ज कर दिया और सुविधा भी अच्छी नही।

इसी से प्रेरित होकर रितेश अग्रवाल ने तय किया कि एक ऐसी कम्युनिटी बनाई जाए जिससे होटल बुक करने में और ठहरने में कस्टमर को कम चार्ज में ही अच्छी सुविधा मिल जाये। जब रीतेश अग्रवाल 18 वर्ष के थे तो इन्होंने एक और स्टार्टप किया है जिसका नाम Oraval Stays Pvt Ltd था यह ऑनलाइन सभी होटलों की लिस्ट बनकर उनके दाम को कम करता था। लेकिन ये ज्यादा सक्सेसफुल नही रहा क्योंकि दाम कम होने की वजह से लोगो को सुविधाएं कम मिलने लगी थी।

इसके बाद रितेश अग्रवाल में 2013 में इसमे कुछ बदलाव किए गए और इसका नाम बदलकर OYO Rooms कर दिया गया। जिसमे ग्राहकों को कम पैसे में ज्यादा सुविधा मिलने लगा।

रितेश अग्रवाल को मिले कुछ अवार्ड्स

  • टॉप 50 entrepreneurs in 2013 ये अवार्ड इन्हें टाटा के द्वारा दिया गया था
  • Tie Lumis Entrepreneurial Excellence Award 2014
  • Business world young entrepreneur award 2015
  • Hottest teenage startup founders in world

हम कोई भी कार्य शुरू करते हैं तो शुरुआत में बहुत कठिनाई होती है लें अगर आपके अंदर जज्बा हो तो कोई भी कार्य संभव है ऐसे ही कठिनाई रितेश अग्रवाल को भी बहुत सारी कठिनाई आयी थी लेकिन वे रुके नही और सभी परेशानियों के वावजूद आगे बढ़ते चले गए।

जैसा कि आपको पता है कि रितेश अग्रवाल एक मध्यम वर्गीय परिवार से आते है और एक मध्यम वर्गीय परिवार को सबसे ज्यादा अगर किसी चीज की दिक्कत होती आई तो वो है पैसा। और एक मध्यम वर्ग परिवार को कोई बिजनेस शुरू करना कोई छोटी बात नही है वो भी अगर वो कोई छात्र हो तो और भी मुश्किल होती है

रितेश अग्रवाल ने अपने बिजनेस की शुरुआत 60000 रुपये से की थी वो पैसा भी उन्होंने बंदोवस्त कर के किया था। उन्होंने इस पैसे से Oreval की शुरुआत एक होटल से की लेकिन उन्हें इसे बढ़ाने के लये और भी ज्यादा पैसो की जरूरत थी।

वो कहते हैं न कि अगर आप कोई काम मेहनत और लगन से करें तो किस्मत भी आपका साथ देती है यही रितेश के साथ भी हुआ। रितेश अग्रवाल को 20 under 20 this fellowship के बारे में जानकारी हुई जो 2013 में 2 साल के लिए शुरुआत हुई थी जिसे Paypal द्वारा शुरू किया गया था। जिसमे 20 वर्ष से कम 20 enterpreneur को चुना जाता है और उन्हें $100000 की राशि प्रदान करती है उन्होंने भी इसमे भाग लिया और सफलता भी पाई। इस तरह वे पहले ऐसे भारतीय व्यक्ति बने जो इस सूची में शामिल हुए।

यहां से सफल होने के बाद इन्होंने इस पैसे को Oyo में लगाया और इसे शिखर तक पहुंचा दिया।

सफल होने के बाद रितेश अग्रवाल को बहुत सारी कंपनियों ने भी मदद भी की उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करके जैसे – Venture nursery, Lightspeed ventures, sequeio इत्यादि कंपनियों ने मदद की। सॉफ्टबैंक ने भी रितेश को $100 m की राशि प्रदान की।

सबसे पहले oyo की शुरुआत गुड़गांव से हुई थी जिसके बाद इसके 160 शहरों में 4000 से भी ज्यादा होटल मौजूद है किसकी संख्या लगातार बढ़ रही है। अब ये कंपनी मलेशिया में भी लांच हो चुकी है। who is ritesh agrawal

OYO की सुविधाएं

OYO होटल्स को बुक करना बहुत आसान होता है बस आपको इसका app इनस्टॉल करना होता है और आप अपने लोकेशन के हिसाब से होटल बुक कर सकते हैं

इसमे आपको बहुत सारी सुविधाएं बहुत काम कीमत पर मिल जाती है इसमे और अभी होटलों से दाम बहुत कम होता है।

यह भी पढें – नया ब्लॉग कैसे शुरू करें

Leave a Comment